Inquiry

Thanks so much for your message. We check e-mail frequently and will try our best to respond to your inquiry.

उद्देश्य

मैट्स विश्वविद्यालय, रायपुर उच्च शिक्षा के क्षेत्र में विद्यार्थियों को विश्वस्तरीय शिक्षा प्रदान करने वाला प्रतिष्ठित संस्थान है। यह हमारे राज्य में विद्यार्थियों कों रोजगारोन्मुख शिक्षा प्रदान करने वाला बेहतर मंच है। अपने इस उद्देश्य की पूर्ति हेतु मैट्स विश्वविद्यालय ने विभिन्न संकायों की स्थापना की है। कला एवं मानविकी संकाय के अंतर्गत संचालित होने वाला पाठ्यक्रम बी. ए. हिन्दी ऑनर्स पत्रकारिता एवं पर्यटन भी उसके इस उद्देश्य को पूरा करता है। मैट्स यूनिवर्सिटी में संचालित हिन्दी भाषा का यह त्रिवर्षीय व्यावसायिक डिग्री कोर्स है। संचार के आधुनिक साधनों के विकास के साथ-साथ पत्रकारिता और पर्यटन के क्षेत्र में कैरियर की अच्छी संभावनाओं को देखते हुए इस डिग्री कोर्स को बेहतर प्रतिसाद मिल रहा है। त्रिवर्षीय पाठ्यक्रम के इस कोर्स के तीन लाभ प्रत्यक्ष हैं, हिन्दी साहित्य, पत्रकारिता और पर्यटन के क्षेत्र में सेवा प्राप्त करने के पर्याप्त अवसर।


महत्व

राजभाषा हिन्दी के विकास एवं प्रचार-प्रसार के उद्देश्य से मैट्स विश्वविद्यालय रायपुर द्वारा वर्ष 2012 में हिन्दी विभाग की स्थापना की गई। भाषा, पत्रकारिता एवं पर्यटन जीवन के महत्वपूर्ण अंग बन गए हैं इन क्षेत्रों में रोजगार के अवसर तथा संभावनाओं को ध्यान में रखते हुए हिन्दी विभाग के माध्यम से बी.ए. (ऑनर्स) हिन्दी पत्रकारिता एवं पर्यटन का कोर्स संचालित किया जाता है। इस पाठ्यक्रम का उद्देश्य हिन्दी के साथ-साथ पर्यटन एवं पत्रकारिता के क्षेत्र में विद्यार्थियों के उज्जवल भविष्य का निर्माण करना है। विद्यार्थी पत्रकारिता के क्षेत्र में हिन्दी भाषा के बढ़ते महत्व एवं प्रासंगिकता से अवगत होकर लेखन कला में उत्कृष्टता प्राप्त करेंगे तथा हिन्दी के साथ-साथ पर्यटन और पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना कैरियर बना सकेंगे। बी. ए. (ऑनर्स) हिन्दी को रोजगारोन्मुख बनाने की दिशा में हमारा यह सार्थक प्रयास है। इसके साथ ही एम.ए. हिन्दी, एम.फिल, पीएच.डी के संचालन के साथ-साथ पत्रकारिता एवं जनसंचार में एक वर्षीय डिप्लोमा पाठ्यक्रम भी संचालित है।


इन क्षेत्रों में संभावनाएँ

भाषा साहित्य में विशेषज्ञ, हिन्दी अधिकारी, विज्ञापन एजेंसी, पर्यटन, सांस्कृतिक एवं पुरातात्विक महत्व के क्षेत्र, विभिन्न समाचार पत्र, पत्रिकाएँ, समाचार एंजेंसियाँ, ई-मीडिया, आकाशवाणी, दूरदर्शन, न्यूज चैनल, शासकीय एवं निजी क्षेत्रों के जनसंपर्क विभाग, टूरिस्ट प्लानर एवं गाइड, स्क्रिप्ट राइटर, फीचर लेखन।


व्यावहारिक ज्ञान

हिन्दी विभाग द्वारा संचालित कोर्स बी.ए. हिन्दी (ऑनर्स) पत्रकारिता एवं पर्यटन के अंतर्गत विद्यार्थियों को कक्षा में सैद्धांतिक ज्ञान एवं विशेष व्याख्यान सहित व्यावहारिक ज्ञान के लिए विभिन्न मीडिया संस्थानों तथा पर्यटन क्षेत्रों में भ्रमण कराकर प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है। पत्रकारिता में अच्छे भविष्य की संभावनाओं को देखते हुए समाचार पत्र के दफ्तरों, आकाशवाणी, दूरदर्शन, एफ.एम. न्यूज चैनल्स का भ्रमण, प्रशिक्षण, व्यावहारिक ज्ञान हेतु परियोजना कार्य, विभिन्न विशेषज्ञों का व्याख्यान भी पाठ्यक्रम का हिस्सा हैं। इस पाठ्यक्रम का उद्देश्य ही बी.ए. हिन्दी के माध्यम से विद्यार्थियों को पत्रकारिता एवं पर्यटन में रोजगार के अवसर मुहैया कराना है।


पात्रता मापदंड

Faculty & Staff

Event/Activity

Departmental Notices

e-Content

Our Blog

डॉ. रेशमा अंसारी को राष्ट्रभाषा अलंकरण सम्मान

<p>कला एवं मानविकी अध्ययनशाला के अंतर्गत संचालित हिन्दी विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ. रेशमा अंसारी को राष्ट्रभाषा प्रचार समिति वर्धा, महाराष्ट्र से संबद्ध छत्तीसगढ़ राष्ट्रभाषा प्रचार समिति ने हिन्दी भाषा एवं साहित्य के विकास के लिये राष्ट्रभाषा अलंकरण-2018 से सम्मानित किया। समारोह के मुख्य अतिथि नानावटी महाविद्यालय मुंबई के हिन्दी विभाग के अध्यक्ष डॉ.रविंद्र कात्यायन थे। डॉ. रेशमा अंसारी की इस उपलब्धि पर मैट्स विश्वविद्यालय के कुलाधिपति श्री गजराज पगारिया, कुलपति प्रो. कर्नल (डॉ.) बैजू जान,महाननिदेशक श्री प्रियेश पगारिया, कुलसचिव श्री गोकुलानंदा पंडा सहित सभी विभागों के विभागाध्यक्ष एवं प्राध्यापकगण ने हर्ष व्यक्त किया है।&nbsp;</p>